किस करना है सेहत के लिए फायदेमंद, स्टडी का दावा

किस करना है सेहत के लिए फायदेमंद, स्टडी का दावा

किस करने से आप अधिक समय तक जीवित रह सकते हैं। हैरान मत होइए, ऐसा हम नहीं बल्कि एक स्टडी में इस बात का खुलासा किया गया है। इसके साथ ही यह बात भी सामने आई है कि किस करने से आप जवां दिखने के साथ-साथ कई बीमारियों से भी बचे रह सकते हैं। किस करने से न ही केवल आपके पार्टनर के साथ गहरा संबंध बनेगा बल्कि आप सेहतमंद भी रह सकते हैं। आइए जानते हैं किस करना कैसे फायदेमंद है।

सभी लोगों की लार में 80 फीसदी बैक्टीरिया एक जैसे होते हैं जबकि सिर्फ बीस फीसदी बैक्टीरिया अलग होते हैं। किस करने के दौरान बैक्टीरिया आपस में बदलते हैं जो आगे एंटीबॉडी विकसित करने में मदद करता है। शरीर में मौजूद संक्रमण से एंटीबॉडी लड़ते हैं। इससे आपके शरीर का आंतरिक रक्षा तंत्र मजबूत होता है और इम्यूनिटी बढ़ती है।

अगर आप किस करते वक्त एक मिनट में बीस बार सांस लेते हैं तो यह एक मिनट में साठ गुना तक बढ़ जाता है। किस करना फेफड़ों के लिए एक बेहतरीन एक्सरसाइज है। क्योंकि एक मिनट में आप जितनी अधिक बार सांस लेते हैं उतना ही फेफड़ों के लिए अच्छा होता है।

किस करना है सेहत के लिए फायदेमंद, स्टडी का दावा,

किस आपके ब्लड को इम्युनोग्लोबुलिन ई एंटीबॉडी को कम करने में मदद करता है। आंखों में पानी और छींकने जैसी एलर्जी इम्युनोग्लोबुलिन ई एंटीबॉडी के कारण ही होती है। सुबह के वक्त किस करने से 50 फीसदी आत्मविश्वास को बढ़ाता है।

Advertisements

चुनाव आचार संहिता उल्लंघन : चुनाव आयोग ने दो धारावाहिक निर्माताओं को नोटिस दिया

चुनाव आचार संहिता उल्लंघन : चुनाव आयोग ने दो धारावाहिक निर्माताओं को नोटिस दिया

चुनाव आयोग (ईसी) ने दो टीवी धारावाहिक निर्माताओं को कार्यक्रमों में विभिन्न सरकारी योजनाओं का प्रचार कर कथित तौर पर आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन करने पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है।

महाराष्ट्र के अतिरिक्त मुख्य चुनाव अधिकारी दिलीप शिंदे ने बुधवार को बताया कि जी टीवी और एंड टीवी पर प्रसारित दो टीवी धारावाहिकों द्वारा चुनाव आचार संहिता उल्लंघन करने के बारे में शिकायतें मिली थी।

शिंदे ने कहा, ‘‘शिकायतों पर संज्ञान लेते हुये चुनाव आयोग ने मंगलवार को संबंधित धारावाहिक के निर्माताओं को नोटिस जारी किया और एक दिन के भीतर उन्हें जवाब देने को कहा।’’

news-details

उन्होंने बताया कि जवाब मिलने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

कांग्रेस ने सोमवार को चुनाव आयोग से संपर्क किया था और केन्द्र सरकार की योजनाओं और सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं की सराहना वाली सामग्री दिखा कर आदर्श आचार संहिता के कथित उल्लंघन को लेकर दो चैनलों पर प्रतिबंध लगाने की मांग की थी।

महाराष्ट्र कांग्रेस ने कहा कि चुनाव आयोग को निर्माताओं और दोनों धारावाहिकों के अभिनेताओं के साथ-साथ भाजपा के खिलाफ मुकदमा दायर करना चाहिए।

चुनाव आयोग गये प्रतिनिधिमंडल की अगुवाई करने वाले कांग्रेस के राज्य महासचिव सचिन सावंत ने कहा कि यह ‘चौंकाने वाला’ मामला है कि सत्तारूढ़ पार्टी की योजनाओं और नेताओं को ‘बढ़ावा’ देने के लिए टेलीविजन धारावाहिकों का इस्तेमाल किया जा रहा है।

कांग्रेस ने चुनाव आयोग को https://www.suryasamachar.com/newsdetail/Electoral-code-violation-Election-Commission-notices-to-two-serial-producers-9573.htmlदोनों धारावाहिकों का वीडियो क्लिप भी सौंपा।